पेट में गैस क्यों बनती है? - लक्षण और इलाज

पेट में गैस होना लाजिमी है। यह आपके पाचन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और यह समस्या सभी को होती है। ज्यादातर लोग दिन में पांच से 15 बार गैस निकालते हैं। 

हालांकि, अगर आपको लगता है कि आप अन्य लोगों की तुलना में अधिक गैस बनाते हैं, तो इसके पीछे कुछ खास कारण हो सकते हैं।

पेट में गैस होने के लक्षण :- – भूख न लगना – सांसों का बदबूदार होना  – पेट में सूजन रहना – उलटी, बदहज़मी, दस्त होना – पेट फूलना

यदि आप को भी ऐसे लक्षण दिख रहे हैं तो पेट में गैस की समस्या हो सकती हैं, अतः चलिए अब इसके कारण और उपाए को जान लेते हैं।

अधिक हवा अंदर लेना :- अगर बहुत अधिक गैस बन रही है, तो इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि आप बहुत अधिक हवा ले रहे हैं। उसमें से कुछ हवा डकार के रूप में और कुछ गैस के माध्यम से निकलती है। 

कार्बोनेटेड पेय :- बीयर, सोडा, या कोई भी बुलबुला पेय पेट में गैस बनाने का काम करता है। तो इसके बजाय कुछ सादा पेय पीने की कोशिश करें।

सोते समय मुंह खुला रखना :- यदि आप सोते समय अपना मुंह खोलकर सांस लेते हैं या खर्राटे लेते हैं, तो आप रात भर बहुत अधिक हवा निगल सकते हैं जिससे अगले दिन गैस हो सकती है। 

आहार के कारण :- पेट में गैस बनने का कारण खाद्य पदार्थ भी हो सकते हैं। जैसे छोटे राजमा, मटर, ब्रोकली या पत्तेदार साग, साबुत अनाज, साइलियम युक्त फाइबर वाले खाद्य पदार्थ भी पेट में गैस पैदा करते हैं।

कब्ज या धीमी पाचन :- अगर आपको कब्ज़ है और खाना आपकी आंत में धीरे-धीरे जा रहा है तो इससे पेट में गैस बनने की संभावना बढ़ जाती है। 

बुरी आदतें :- कुछ आदते जैसे च्युइंगम चबाना, पेन चबाना, जल्दी-जल्दी खाना, एक साथ पानी पीना, आदि पेट में गैस बनाने का कारण बन सकती हैं।

बिमारियों के कारण :- यदि आप को कोई बीमारी है, जैसे क्रोहन रोग,, मधुमेह, थायराइड, आदि तो उनके दावा के कारण भी आप को पेट में गैस बन सकती हैं।

पेट में गैस बनने की दवा :- Multani Pachmeena Tonik पाचन सिरप – 100% प्राकृतिक और आयुर्वेदिक – पाचन सिरप – गैस से राहत – भूख में सुधार – 2 चम्मच तीन दिन या चिकित्सक द्वारा निर्देशित के रूप में।

Next :- ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्या हैं?