सीने में दर्द का घरेलू इलाज | Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj

सीने में दर्द का घरेलू इलाज – जब भी किसी को अचानक सीने में दर्द होता है तो उसे हार्ट अटैक का डर सताने लगता है। यकीनन, कभी-कभी यह चिंता का विषय हो सकता है, लेकिन जरूरी नहीं कि हर बार छाती में दर्द होना हार्ट अटैक ही हो। सीने में दर्द या हम कहें छाती में होने वाला दर्द आज के समय में एक आम समस्या है। छाती में दर्द होते ही आदमी को इमरजेंसी डिपार्टमेंट में जाना पड़ता है। अक्सर सीने में दर्द शरीर में रक्त का संचार कम होने के कारण होता है।

सीने में दर्द का घरेलू इलाज | Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj
सीने में दर्द का घरेलू इलाज | Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj

सीने में दर्द होने पर कई तरह के लक्षण महसूस होते हैं। छाती में भारीपन व दर्द, तेज चुभन से लेकर हल्का-हल्का दर्द होता है। चेस्ट पैन में कभी दबाव व जलन जैसा भी महसूस होता है। कुछ लोगों को चेस्ट पैन के कारण गर्दन और जबड़ों में भी दर्द होने लगता है। आयुर्वेद के अनुसार, वात, पित्त और कफ तीनों दोषों के कारण सीने में दर्द होता है।

आज हम आपको बताएँगे की सीने में दर्द का घरेलू इलाज (Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj) आप किस तरह से कर सकते हैं और इसकी पूरी जानकरी दी जाएगी तो आइये शुरू करते है।

Also Read – पेट कम करने के घरेलू उपाय

सीने में दर्द का घरेलू इलाज | Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj

आम तौर पर लोग सीने में दर्द होने पर सबसे पहले घरेलू उपाय ही आजमाते हैं, जो आसानी से घर में मिल जायें। तो चलिए जानते हैं की सीने में दर्द का घरेलू इलाज क्या-क्या हैं।

1. सीने में दर्द का घरेलू इलाज लहसुन से

सीने के दर्द में लहसुन बहुत फायदेमंद होता है। एक स्टडी के मुताबिक रोजाना लहसुन खाने से दिल की बीमारी होने की संभावना कम हो जाती है और इसके इलाज में मदद मिलती है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और प्लाक को धमनियों तक पहुंचने से रोकता है। इसकी मदद से रक्त प्रवाह भी बेहतर होता है। रोजाना 1 चम्मच लहसुन के रस को गर्म पानी में मिलाकर सेवन करें। नहीं तो रोजाना एक लहसुन और 2 लौंग चबाकर खाएं।

Also Read – पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी

2. विटामिन-डी हैं सीने में दर्द का चुक इलाज

शरीर में विटामिन-डी की कमी से सीने में दर्द हो सकता है। वास्तव में, विटामिन-डी की कमी से गैर-हृदय सीने में दर्द (सीने में दर्द जो हृदय रोग के कारण नहीं होता है) हो सकता है। ऐसे में इससे बचने के लिए विटामिन-डी के स्रोतों जैसे फैटी फिश (सैल्मन या टूना), चीज, अंडे की जर्दी या मशरूम का सेवन किया जा सकता है।

3. अदरक से करे सीने में दर्द का घरेलू इलाज

हृदय रोगों में भी अदरक उपयोगी है। अदरक में जिंजरोल नामक एक रासायनिक यौगिक होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। अदरक में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो रक्त वाहिकाओं को नुकसान से बचाते हैं। इसके लिए आप रोजाना इस तरह से अदरक का सेवन कर सकते हैं-

  • रोजाना अदरक की चाय पिएं।
  • अदरक को पानी में उबालकर उस पानी का रोजाना सेवन करें।
  • रोजाना कच्चे अदरक का सेवन करें।

Also Read – कच्चा अदरक खाने के फायदे

4. हल्दी वाला दूध है उपयोगी

अक्सर लोग हल्दी वाले दूध का सेवन करते हैं। हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सीने में दर्द का घरेलू इलाज है। यह कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर को कम करता है और इसका लंबे समय तक सेवन हृदय रोग से बचाने में भी मदद कर सकता है।

5. छाती के दर्द का घरेलू इलाज बादाम से

बादाम पॉली नेचुरल फैटी एसिड से भरपूर होते हैं और साथ ही इसमें मैग्नीशियम भी होता है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और सीने में दर्द के जोखिम को कम करता है। सीने में दर्द होने पर बराबर मात्रा में बादाम का तेल और गुलाब का तेल एक साथ मिलाएं। इस मिश्रण को छाती में धीरे-धीरे लगाएं। इसके अलावा रोजाना एक मुट्ठी बादाम का सेवन करें।

Also Read – बादाम खाने के फायदे

6. सीने में दर्द का घरेलू इलाज एलोवेरा से

यह एक चमत्कारी पौधा है, इसमें कई औषधीय गुण होते हैं, इसमें मौजूद गुण हृदय को मजबूत करने, अच्छे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने, ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने और रक्तचाप को कम करने में मदद करते हैं। और सभी कारक सीने के दर्द से राहत दिलाने में मदद करते हैं। रोजाना 1/4 कप जूस गर्म पानी के साथ लें।

7. छाती के दर्द का घरेलू इलाज बादाम से

बादाम पॉली नेचुरल फैटी एसिड से भरपूर होते हैं और साथ ही इसमें मैग्नीशियम भी होता है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और सीने में दर्द के जोखिम को कम करता है। सीने में दर्द होने पर बराबर मात्रा में बादाम का तेल और गुलाब का तेल एक साथ मिलाएं। इस मिश्रण को छाती में धीरे-धीरे लगाएं। इसके अलावा रोजाना एक मुट्ठी बादाम का सेवन करें।

8. अनार है फायदेमंद

कई अध्ययनों के अनुसार अनार दिल की समस्याओं को दूर करने में बहुत उपयोगी होता है। यह तनाव को कम करके धमनियों की दीवारों में क्षति और ऑक्सीकरण को रोकने में मदद करता है। स्ट्रोक और परिधीय रोग धमनियों के संकुचन का कारण बनते हैं। अनार का जूस उन समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। अनार के रस के नियमित सेवन से इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सीने में दर्द को रोकने में मदद करते हैं।

9. छाती के दर्द का घरेलू इलाज तुलसी से

तुलसी के पत्तों में विटामिन K और मैग्नीशियम पाया जाता है। मैग्नीशियम हृदय में रक्त प्रवाह में कोलेस्ट्रॉल के निर्माण को रोकता है। यह हृदय संबंधी विकारों के साथ-साथ सीने में दर्द के इलाज में मदद करता है। एक चम्मच तुलसी का रस शहद के साथ लेने से लाभ मिलता है। या फिर 8-10 तुलसी के पत्ते खाने से भी सीने के दर्द में आराम मिलता है।

अंतिम शब्द

तो दोस्तों आज मैंने आप को सीने में दर्द का घरेलू इलाज (Seene Me Dard Ka Gharelu Ilaj) के बारे में बताया है और मैं आशा करता हु की आप को इनसे जरुर फायदा होगा. हालांकि यह जानकारी हमने आपको सामान्य जानकारी के आधार पर बताएं है। अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी या कोई समस्या है तो चिकित्सक से सलाह लेकर ही काम करें।

Disclaimer

यह लेख केवल सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें। CodeMaster इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Leave a Comment

x