NRC क्या है? | NRC Full Form In Hindi

दोस्तों कई बार ऐसा होता है की हम सभी लोग बिना सोचे समझे कुछ भी बोलने लगते है और फिर गलत कदम उठा लेते है ठीक उसी प्रकार से NRC क्या है (What is NRC in Hindi) इसके बारे में जाने बिना लोग कुछ भी कहने लगते है खैर हम एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है (NRC Full Form in Hindi) और NRC Meaning in Hindi इसी के बारे में पूरी जानकारी देंगे। बस आप आर्टिकल पूरा ध्यान से पढ़ना।

कई बार ऐसा होता है की हम लोग कुछ चीजों को जानना नहीं चाहते है जो दूसरे लोग बता दिया सिर्फ उसी का बात हम लोग मान लेते है लेकिन ऐसा करना हम सभी के लिए नुकसान दायक होता है और हम सभी लोग आपस में लड़ जाते है वही अगर चीजों के बारे पढ़े और जाने तो कितना बेहतर होगा और हमारा देश कितना आगे जायेगा।

क्यूंकि इससे हमलोग खुद से जान जाते है और सही चीजों के बारे में अवगत होते है जिससे हमारा देश आगे जाता है और अगर वही चीज को नहीं समझते है तो सरकार हमें समझाती है जिससे सरकार का समय ख़राब होता है तो क्यों न हम जाने हर चीजों के बारे में तो चलो अब जानते है की NRC Full Form in Hindi वो भी पूरी जानकारी के साथ में।

एनआरसी भारत में क्यों जरुरी है (Why NRC Is Important In India)

NRC क्या है? | NRC Full Form In Hindi
NRC क्या है? | NRC Full Form In Hindi

पहले हमारा देश बहुत बड़ा था लेकिन कुछ कारणों के चलते हमारा देश अलग हो गया है और हिंदुस्तान व पाकिस्तान हो गया लेकिन जब ऐसा हुआ तो कुछ लोग भारत में रह गए और कुछ लोग पाकिस्तान चले गए लेकिन जो लोग पाकिस्तान गए उनकी कुछ सम्पति भारत में ही रह गई जिसके कारण से कुछ लोग भारत भी आने लगे।

और इस कारण से लोगों में ये फरक नहीं पड़ने लगा की कौन भारतीय है और कौन दूसरे देश का तो उसी में हमारे देश को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ने लगा तो इससे बहुत कुछ प्रभाव पड़ता था हमारे देश में क्यूंकि बहुत सारे आतंकवादी हमारे देश आ जाते थे और देश का नुकसान किया करते थे तो इसी को जानने के लिए की कौन भारत देश का है और कौन दूसरे देश का है।

क्यूंकि अगर ये पहचान हो जाती है तो दूसरे देश के लोगों पर ध्यान रखा जायेगा की कितने लोग दूसरे देश का भारत में है जिससे हमारा देश बहुत सिक्योर हो जाता है और फिर किसी भी तरह का ट्रैरिस्ट अटैक नहीं होता है इसी लिए NRC हमारे देश में जरुरी है अब हमलोग जानेंगे की NRC Kya Hai पूरी जानकारी हिंदी में देंगे।

● हमारे भारत देश में 1951 में पहली बार National Register of Citizens बनाया गया था.
● देश का बटवारा होने के समय में लोग अपनी सम्पति को पाने के लिए भारत देश में आये.
● जब भारत और पाकिस्तान से युद्ध हुआ तो कई सारे लोग हमारे देश में आ गए.

एनआरसी का फुल फॉर्म (NRC Full Form In Hindi)

दोस्तों NRC Full Form National Register of Citizens होता है, तथा हिंदी में भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर होता है अगर आप ये जानना चाहते है की NRC Meaning in Hindi क्या होता है तो आप एनआर सी क्या हैं इसके बारे में जाने।


Also Read:


NRC क्या हैं (What is NRC in Hindi)

एनआर सी क्या हैं? – दोस्तों में आपको बताना चाहता हूँ की भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर ये एक भारतीय नागरिक की पहचान के लिए होता है जिसमे भारत सरकार इसमें लोगों को रजिस्टर करती है जिससे ये पता चलता है की ये लोग हमारे देश के नागरिक है और जो लोग इसमें रजिस्टर नहीं करवा पाते है वो लोग दूसरे देश का लोग कहलाते है जिससे हमारे देश की सरकार को मालूम चल पाटा है की ये लोग दूसरे देश के है और उनपे किसी भी तरह का एक्शन ले पाते है

यानी उनलोगों को उनके देश भेज पाते है तो जरा सोचिए की इससे हमारा देश को कितना फायदा होता है अगर में आपको असम क Example दूँ तो NRC अभी तक असम में ही हुआ है क्यूंकि वहां पे ज्यादा दूसरे देश के लोग रहते थे।

भारत सरकार ने इस प्रक्रिया को 1986 में सिटीजनशिप एक्ट में संशोधन कर असम के लिए विशेष प्रावधान किया जिससे उन्ही लोग इस रजिस्टर में शामिल होंगे जो लोग असम में 12 साल से रह रहे है यानी की 1771 से पहले के लोगों को असम के नागरिक माना जाता है यानी की उनके पूर्वजों से लेकर 25 साल असम में होना चाहिए ।

अभी तक हमारे देश में एक ही स्टेट में NRC हुआ है जिसका नाम असम है हमारे देश के स्टेट में पहली बार नेशनल सिटीजन रजिस्टर 1951 में बना था। 2017 में असम सरकार द्वारा NRC मसौदे का पहला संस्करण जारी किया गया। उस समय से अभी तक नहीं हुआ है इसीलिए बहुत सारे देश के लोग यानी की बांग्लादेश और पाकिस्तान हमारे देश में आ गए है इसीलिए फिर से NRC होने की तैयारी की जा रही है।

एनआरसी होने के फायदे

दोस्तों अगर सही तरीके से NRC हमारे देश में होता है तो फायदा भी बहुत है और अगर सही तरीके से NRC नहीं हो पाता है तो नुकसान भी बहुत है।

NRC होने का सबसे पहला फायदा यह है की भारत सरकार बहुत आसान तरीके से दूसरे देश के लोगों की पहचान कर पायेगा दूसरा फायदा यह है की भारत सरकार बहुत आसानी से भारत के नागरिक की पहचान कर पायेगी और भी कई सारे फायदे है NRC करने की लेकिन नुकसान भी बहुत है.


Also Read:


एन आर सी होने के नुकसान

दोस्तों आपको मालूम होगा की अगर कुछ चीजों के फायदे होते है तो नुकसान भी होता है लेकिन अगर ज्यादा नुकसान हो तो वो अच्छी चीज नहीं होती है, में अब आपको बताऊंगा की अगर भारत में NRC हुआ तो क्या नुकसान होगा।

दोस्तों सबसे पहले अगर आप अपना प्रूफ साबित नहीं कर पाते है तो आप दूसरे देश के नागरिक माने जायेंगे और ये proof आपको 1971 से आपको अपना दस्तावेज साबित करना होगा यानी की इसमें आपको अपने दादा-दादी के दस्तावेज साबित करना होगा।

यानी की किसी भी तरह से अपने रिलेशन को 25 साल से पहले ये साबित करना होगा की हमारे दादा इस देश में रहें है और अगर आप ऐसा नहीं कर पाते है तो आपके भारत में सभी अधिकार को छीन लिया जायेगा जिससे आप बिलकुल अनाथ हो जायेंगे यानी की भारत सरकार के द्वारा आपको किसी भी तरह का कोई सुविधा नहीं दिया जायेगा तो जरा सोचो ये कितना जरूरी चीज है।

हालाँकि सरकार का यह फैसला गलत नहीं हैं, क्योंकि अगर आप पिछले 25 से ज्यादा सालो से यहाँ रह रहें हैं। तो आपके डॉक्युमेंट्स तो कम्पलीट ही होंगे। लेकिन जो गलत मकसद से बिना भारतीय नागरिकता प्राप्त किये भारत में रह रहे हैं उनकी इससे पहचान करना सरकार के लिए आसान काम होगा।

NRC में नाम रजिस्टर करवाने के लिए दस्तावेज़

जैसा की हमने आपको बताया की NRC वर्तमान में सिर्फ असम में लागु हैं। और इसमें रजिस्टर करवाने के लिए आपको सरकार द्वारा जारी किये निम्न Documents की जरुरत होगी।

  1. एल आई सी की बीमा पॉलिसी 
  2. जमीन और किरायेदारी के दस्तावेज
  3. जन्म प्रमाण पत्र 
  4. ऑथोरिटी द्वारा जारी लाइसेंस/प्रमाण पत्र 
  5. बैंक या पोस्ट ऑफिस में अकाउंट 
  6. किसी भी स्टेट या यूनिवर्सिटी से प्राप्त शिक्षण प्रमाण पत्र 
  7. नागरिकता प्रमाण पत्र 
  8. न्यायलय रिकॉर्ड से जुड़ा दस्तावेज आदि। 

Final Words

तो मैंने आपको बहुत आसान तरीके से बताने की कोशिश कि है की एनआर सी क्या हैं। (What is NRC in Hindi) और एनआरसी का फुल फॉर्म क्या है (NRC Full Form in Hindi) और NRC Meaning in Hindi सब कुछ बताया है। मैं आशा करता हूँ की NRC का मतलब आपको समझ में आ गया होगा। इसमें आपकी क्या राय हैं। हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कर देना।अगर फिर आपको इस आर्टिकल के रिलेटेड सवाल है तो आप हमें कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है.

Sudhanshu Gupta

I am Sudhanshu Gupta, Founder of CodeMaster. I am a web designer by profession and a passionate blogger who always tries his best to provide you better information.

Leave a Reply