दुबले पतले बच्चों का वजन कैसे बढ़ाएं? – बच्चों का कम वजन या पतला होना अक्सर माता-पिता के लिए चिंता का कारण बन जाता है। कुछ बच्चों का वजन ठीक से खाने के बाद भी नहीं बढ़ता है। बहुत कम बच्चे स्वस्थ होते हैं और अक्सर माता-पिता शिकायत करते हैं कि उनका बच्चा पतला, कमजोर और कम वजन का है।

दुबले पतले बच्चों का वजन कैसे बढ़ाएं?
दुबले पतले बच्चों का वजन कैसे बढ़ाएं?

एक्टिव होने के बावजूद बच्चों का पतलापन माता-पिता को परेशान करता है और अगर आपका बच्चा भी कमजोर या कम वजन का है तो उसके आहार में कुछ चीजों को शामिल करने से बच्चे का वजन बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

Also Read: टीवी के मरीज को कौन सा फल खाना चाहिए?

दुबले पतले बच्चों का वजन कैसे बढ़ाएं?

हालांकि, जब छोटे बच्चों के आहार की बात आती है तो उनके पास ज्यादा विकल्प नहीं होते हैं। उन्हें अपनी मां का दूध ठीक से पिलाने से वे धीरे-धीरे बढ़ने लगते हैं। इसके साथ ही जब वे थोड़े बड़े हो जाएं तो बच्चों को ठोस आहार दें। इससे उन्हें जरूरी पोषण और ताकत मिलेगी, जिससे उनका वजन भी बढ़ेगा। इसके अलावा कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो आपको अपने बच्चों को जरूर खिलाना चाहिए।

Also Read: पेट की चर्बी कम करने का आयुर्वेदिक उपाय 2021

केला

केला पोटेशियम, विटामिन सी, विटामिन बी6 और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। यह कैलोरी से भी भरपूर होता है, जो बच्चे के वजन को बढ़ाने में मदद करता है। केले को मसल कर या स्मूदी या शेक में डालकर बच्चे को दें। अगर बच्चा तीन साल से ज्यादा का है तो आप उसे सीधे केला खिला सकते हैं।

दूध

दूध ताकत और कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। बच्चों से लेकर बड़े बच्चों तक सभी को दूध का सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद कैल्शियम उनकी हड्डियों को मजबूत करता है और शरीर को सही मात्रा में पोषण मिलता है। दूध के नियमित सेवन से बच्चों का शरीर ठीक से बढ़ता है।

Also Read: चना और गुड़ खाने के फायदे

शकरकंद

शकरकंद को उबालने के बाद उसे मैश करके बच्चे को खिलाएं. यह बहुत ही पौष्टिक होता है और आसानी से पच भी जाता है। शकरकंद विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, कॉपर, फॉस्फोरस, पोटैशियम और मैंगनीज से भरपूर होता है। शकरकंद में डायटरी फाइबर भी पाया जाता है। आप इसकी प्यूरी या सूप भी बनाकर बच्चे को दे सकते हैं.

Also Read: मोटापा कम करने का रामबाण उपाय

दाल

दालों में प्रोटीन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन, फाइबर और पोटैशियम होता है। छह माह के बच्चे को दाल का सूप या दाल का पानी पिला सकते हैं। आप अपने बच्चे को दाल खिचड़ी भी खिला सकती हैं। दाल को चावल या सब्जियों में मिलाकर खिलाने से भी दालों के पोषण में वृद्धि होती है। आप 7 से 9 महीने के बच्चे को ठोस आहार में दलिया भी खिला सकते हैं।

हर तरह की दाल खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे!

घी और रागी

घी में पोषक तत्वों की मात्रा बहुत अधिक होती है। आठ महीने के बच्चे को घी देना शुरू कर सकते हैं। बच्चे को दलिया या खिचड़ी या दाल के सूप में घी खिलाएं। यह बच्चे का वजन बढ़ाने के साथ-साथ उसे स्वस्थ भी रखेगा।

इसके अलावा रागी वजन बढ़ाने और बच्चे के स्वस्थ विकास के लिए सुपरफूड का काम करता है। यह आहार फाइबर, कैल्शियम, लौह, प्रोटीन और कई अन्य विटामिन और खनिजों में समृद्ध है। रागी को आप इडली, डोसा या दलिया बनाकर खिला सकते हैं.

अंडा और एवोकैडो

अंडा प्रोटीन से भरपूर होता है। एक साल की उम्र के बाद बच्चे को अंडे दिए जा सकते हैं। इसमें संतृप्त वसा, प्रोटीन, विटामिन और खनिज होते हैं। आप बच्चे को अंडे उबालकर या उसका ऑमलेट बनाकर खिला सकती हैं।

एवोकैडो विटामिन ई, सी, के और फोलेट, तांबा, आहार फाइबर और पैंटोथेनिक एसिड में समृद्ध है। इसमें वसा की मात्रा अधिक होती है। आप बच्चे को एवोकाडो किसी भी रूप में खिला सकते हैं। एवोकाडो डालकर मिल्क शेक भी दिया जा सकता है।

Also Read: नहाने से पहले तेल लगाने के फायदे

अंतिम शब्द

तो दोस्तों आज मैंने आप को दुबले पतले बच्चों का वजन कैसे बढ़ाएं (How To Gain Weight For Lean Kids) के बारे में बताया है और मैं आशा करता हु की आप को इनसे जरुर फायदा होगा. हालांकि यह जानकारी हमने आपको सामान्य जानकारी के आधार पर बताएं है। अगर बच्चे को किसी प्रकार की एलर्जी या कोई समस्या है तो चिकित्सक से सलाह लेकर ही काम करें।

Disclaimer

यह लेख केवल सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें। CodeMaster इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

I am Sudhanshu Gupta, Founder of CodeMaster. I am a web designer by profession and a passionate blogger who always tries his best to provide you better information.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here