गले में इन्फेक्शन के लक्षण: Gale Me Infection Ke Lakshan

गले में इन्फेक्शन के लक्षण: गले में संक्रमण होना एक आम बीमारी है। मौसम के बदलाव के कारण बराबर लोगों को सर्दी, जुकाम एवं गले में दर्द या संक्रमण हो जाता है। बदलते मौसम में उचित देखभाल ना करने पर व्यक्ति आसानी से इन रोगों की चपेट में आ जाता है। जब भी किसी व्यक्ति के गले में संक्रमण होता है तो गले में दर्द एवं खराश के कारण व्यक्ति को कुछ भी निगलने में कठिनाई होती है।

आज के इस आर्टिकल में हम गले में इन्फेक्शन के लक्षण (Gale Me Infection Ke Lakshan), कारण, और उपायों के बारे में विस्तार से जानेंगे। अतः चलिए शुरू करते हैं।

गले का इन्फेक्शन क्या है? | What is Throat Infection in Hindi

गले में इन्फेक्शन के लक्षण: Gale Me Infection Ke Lakshan
गले में इन्फेक्शन के लक्षण: Gale Me Infection Ke Lakshan

सामान्यत: यह गले में होने वाले संक्रमण या इन्फेक्शन से होता है, यह बैक्टीरिया या वायरस के कारण हो सकता है। इस प्रकार की समस्या आमतौर पर छोटे बच्चों एवं उनको होती है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है।

गले में होने वाला संक्रमण ऊपरी श्वसन तंत्र में होने वाली सामान्य परेशानी है। गले में होने वाला  सूजन गले के संक्रमण का मुख्य लक्षण होता है। प्रदूषित व गन्दे पानी या भोज्य पदार्थो के खाने से यह बीमारी हो सकती है। प्रदूषित वातावरण में साँस लेने से भी गले में संक्रमण होता है।

गले में इन्फेक्शन के लक्षण (Gale Me Infection Ke Lakshan)

गले में इन्फेक्शन के कारण होने वाले लक्षण पूरे शरीर को प्रभावित करते हैं, जैसे बुखार, सिरदर्द, जी-मिचलाना और बेचैनी या घबराहट होना आदि। ये लक्षण वायरल और बैक्टीरियल संक्रमणों में मौजूद रहते हैं।

इस संक्रमण की गंभीरता हर व्यक्ति में अलग अलग हो सकती है। गले का इन्फेक्शन होने पर कुछ लोगों को हल्के लक्षण महसूस होते हैं, जैसे गले में दर्द। इसी तरह कुछ लोगों में बेहद गंभीर लक्षण भी नजर आते हैं जैसे तेज बुखार या फिर निगलने में कठिनाई महसूस होना।

गले में संक्रमण होने पर जो लक्षण नजर आते हैं, वे कुछ इस प्रकार हैं: 

  • अचानक से बुखार होना (खासकर 101˚F या उससे ऊपर)
  • गले में दर्द के साथ-साथ लगा लाल हो जाना और उसमें सफेद धब्बे पड़ जाना
  • टॉन्सिल में मवाद बनने लगना
  • टॉन्सिल में सूजन
  • गले और टॉन्सिल्स में सफेद परत जम जाना
  • गले की लसीका ग्रंथि में सूजन आना या उसका आकार बढ़ जाना
  • छाती पर हल्के लाल रंग के चकत्ते बन जाना (कभी-कभी ये पूरे शरीर पर भी हो जाते हैं)
  • मुंह के अंदर फफोले बनना
  • निगलने में कठिनाई होना
  • सिरदर्द होना
  • ठंड लगना
  • भूख कम लगना

गले में इन्फेक्शन के कारण (Throat Infection Causes in Hindi)

गले के संक्रमण (gale me infection) के कई कारण होते हैं, जो ये हो सकते हैंः-

  • गले में संक्रमण वायरल और बैक्टेरियल के कारण हो सकते है। 
  • किसी पदार्थ से एलर्जी या शुष्कता होने पर, या तंबाकू, धुआँ आदि के सम्पर्क में आने से भी गले में संक्रमण हो सकता है।
  • वायरल संक्रमण के कारण सामान्य सर्दी-जुकाम के कारण गले में संक्रमण या गले की सूजन के कारण  बन जाता है। 
  • फ्लू फैलाने वाले वायरस के कारण भी संक्रमण होता है।
  • रायनोवायरस भी इसका एक आम कारण है।
  • बैक्टेरियल संक्रमण में यह स्ट्रेपकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • इसके अलावा काली खाँसी  के कारण भी गंभीर संक्रमण होता है।
  • डिपथेरिया यह भी एक गंभीर बीमारी है, जो गले को संक्रमित करती है।

गले में इन्फेक्शन की दवा (Medicines for Throat Infection in Hindi)

गले में इन्फेक्शन के लिए मार्केट में बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे हम कुछ दवाओं के नाम आपको बता रहे हैं पर यह ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना इन दवाओं का प्रयोग न करें। क्योंकि बि​ना डॉक्टर की सलाह से दवा लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

अंतिम शब्द

तो दोस्तों आज मैंने आप को गले में इन्फेक्शन के लक्षण (Gale Me Infection Ke Lakshan) के बारे में बताया है और मैं आशा करता हु की आप को इनसे जरुर फायदा होगा. हालांकि यह जानकारी हमने आपको सामान्य जानकारी के आधार पर बताएं है। अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी या कोई समस्या है तो चिकित्सक से सलाह लेकर ही काम करें।

Disclaimer

यह लेख केवल सामान्य जानकारी प्रदान करता है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से सलाह लें। CodeMaster इस जानकारी की जिम्मेदारी नहीं लेता है।

Leave a Comment

x